शनिवार, जून 4

होगी काली रात उनके लिए,
जिन्हें सपने देखना नहीं आता..
मेरे लिए तो "गुंजन",
ये रंगीन रौशनी वाली बारात जैसी है..!!!
स्वागत बारात का करना अच्छा लगता है,
हर उस रात के सवेरे से
नए जीवन की शुरुवात करना अच्छा लगता है!!!
शुभ-रात्रि मित्रो..
G.J.

कोई टिप्पणी नहीं: